My Blog

My WordPress Blog

दशरथ कृत शनि स्तोत्र !! Dashrath Krut Shani Stotra

दशरथ कृत शनि स्तोत्र [ Dashrath Krut Shani Stotra ] : 

जिस भी राशि के जातक के शनि की साढेसाती या शनि की ढैय्या परेशान करती है उस जातक को उस समय दशरथ कृत शनि स्तोत्र पढ़ने पर शनि से होने वाली परेशानी से निजात देखने को मिलता है ! #दशरथ_कृत_शनि_स्तोत्र ( #Dashrath_Krut _Shani_Stotra ) पढ़ने से शनि की द्वारा परेशानी से छुटकारा मिल जाता है !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें : 7821878500

[AdSense-B]

नम: कृष्णाय नीलाय शितिकण्ठनिभाय च।

नम: कालाग्निरूपाय कृतान्ताय च वै नम: ।।१।।

नमो निर्मांस देहाय दीर्घश्मश्रुजटाय च ।

नमो विशालनेत्राय शुष्कोदर भयाकृते।।२।।

नम: पुष्कलगात्राय स्थूलरोम्णेऽथ  वै नम:।

नमो दीर्घायशुष्काय कालदष्ट्र नमोऽस्तुते।।३।।

नमस्ते कोटराक्षाय दुर्निरीक्ष्याय वै नम: ।

नमो घोराय रौद्राय भीषणाय कपालिने।।४।।

नमस्ते सर्वभक्षाय वलीमुखायनमोऽस्तुते।

सूर्यपुत्र नमस्तेऽस्तु भास्करे भयदाय च ।।५।।

अधोदृष्टे: नमस्तेऽस्तु संवर्तक नमोऽस्तुते ।

नमो मन्दगते तुभ्यं निरिाणाय नमोऽस्तुते ।।६।।

[AdSense-C]

तपसा दग्धदेहाय नित्यं  योगरताय च ।

नमो नित्यं क्षुधार्ताय अतृप्ताय च वै नम: ।।७।।

ज्ञानचक्षुर्नमस्तेऽस्तु कश्यपात्मज  सूनवे ।

तुष्टो ददासि वै राज्यं रुष्टो हरसि तत्क्षणात् ।।८।।

देवासुरमनुष्याश्च  सिद्घविद्याधरोरगा: ।

त्वया विलोकिता: सर्वे नाशंयान्ति समूलत:।।९।।

प्रसाद कुरु  मे  देव  वाराहोऽहमुपागत ।

एवं स्तुतस्तद  सौरिग्र्रहराजो महाबल: ।।१०।।

नोट : यदि आप कुंडली दिखा कर उपाय जानना चाहते हो या उपाय के साथ अपनी कुंडली का वर्षफल बनवाना चाहते हो तो दिए गये नंबर पर कॉल करें ! 7821878500 ( Not For Free Services )

Join पंडित ललित ब्राह्मण Facebook प्रोफाइल : Click Here

आगे इन्हें भी पढ़े : 

शनि स्तोत्र का पाठ पढ़े : Click Here

[AdSense-A]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My Blog © 2018 Frontier Theme