भगवान श्री कृष्ण जी के मंत्र || Bhagwan Shri Krishna Ji Ke Mantra

By | August 30, 2018

भगवान श्री कृष्ण जी के मंत्र || Bhagwan Shri Krishna Ji Ke Mantra

यंहा हम आपको भगवान श्री कृष्ण जी के मन्त्रों के बारे में बताने जा रहे हैं ! हमारे द्वारा बताये जा रहे हैं भगवान श्री कृष्ण जी के मंत्रो का नियमित जाप करने से भगवान श्री कृष्ण जी का आपके ऊपर आशीर्वाद और कृपा बनी रहती हैं ! यंहा हम श्री कृष्ण के मंत्र, shri krishna ke mantra, shri krishna ji ke mantra, lord krishna mantra, shri krishna beej mantra, bhagwan shri krishna ji ka mool mantra, shri krishna mantra in sanskrit, sapta dashakshar shri krishna maha mantra, saptakshar shri krishna mantra, ashtakshar shri krishna mantra, dashakshar shri krishna mantra, dwadashakshar shri krishna mantra, 22 akshar shri krishna mantra, 23 akshar shri krishna mantra, 28 akshar shri krishna mantra, 29 akshar shri krishna mantra, 32 akshar shri krishna mantra, 33 akshar shri krishna mantra आदि मन्त्रों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं ! Online Specialist Astrologer Acharya Pandit Lalit Brahman द्वारा बताये जा रहे भगवान श्री कृष्ण जी के मंत्र || Bhagwan Shri Krishna Ji Ke Mantra को पढ़कर आप श्री कृष्ण जी के मन्त्रों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकोंगे !! जय श्री सीताराम !! जय श्री हनुमान !! जय श्री दुर्गा माँ !! जय श्री मेरे पूज्यनीय माता – पिता जी !! यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500 shri krishna ji ke mantra by acharya pandit lalit brahman

श्री कृष्ण जी के मंत्र !! shri krishna ji ke mantra in hindi

भगवान श्री कृष्ण जी का मूलमंत्र : bhagwan shri krishna ji ka mool mantra in hindi :

“कृं कृष्णाय नमः”

इस श्री कृष्ण के मूलमंत्र का जाप, सुख प्रेमी प्रत्येक मनुष्य को प्रातःकाल नित्यक्रिया व स्नानादि के पश्चात १०८ बार करना चाहिए। ऐसा करने से, मनुष्य समस्त बाधाओं एवं कष्टों से सदैव मुक्त रहते हैं । bhagwan shri krishna ji ke mantra in hindi

सप्तदशाक्षर श्री कृष्ण महामंत्र : sapta dashakshar shri krishna maha mantra in hindi :

“ॐ श्रीं नमः श्रीकृष्णाय परिपूर्णतमाय स्वाहा”

इस श्रीकृष्ण के सप्तदशाक्षर महामंत्र का पञ्च लक्ष्य (५०००००) जाप करने से, यह मंत्र सिद्ध हो जाता है। जप के समय हवन का दशांश, अभिषेक का दशांश, तर्पण तथा तर्पण का दशांश, मार्जन करने का विधान शास्त्रों में वर्णित है । जिस व्यक्ति को यह मंत्र सिद्ध हो जाता है, उसे सर्वत्र प्राप्त हो जाता है ।

यदि आप भी अपने जीवन में किसी समस्या से परेशानी में चल रहे हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित ब्राह्मण पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

सप्ताक्षर श्री कृष्ण मंत्र : saptakshar shri krishna mantra in hindi :

“गोवल्लभाय स्वाहा”

इस ७ अक्षरों वाले श्रीकृष्ण मंत्र का जाप जो भी साधक करता है, उसे संपूर्ण सिद्धियों की प्राप्त होती हैं। bhagwan shri krishna ji ke mantra in hindi

अष्टाक्षर श्री कृष्ण मंत्र : ashtakshar shri krishna mantra in hindi :

“गोकुल नाथाय नमः”

इस ८ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मंत्र का जो भी साधक जाप करता है, उसकी समस्त कामनाएं व अभिलाषाएं पूर्ण होती हैं। shri krishna ke mantra in hindi

दशाक्षर श्रीकृष्ण मंत्र : dashakshar shri krishna mantra in hindi :

“क्लीं ग्लौं क्लीं श्यामलांगाय नमः”

इस १० अक्षर वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसे संपूर्ण सिद्धियों की प्राप्त होती हैं। bhagwan shri krishna ji ke mantra in hindi

द्वादशाक्षर श्रीकृष्ण मंत्र : dwadashakshar shri krishna mantra in hindi :

“ॐ नमो भगवते श्रीगोविन्दाय”

इस १२ अक्षर वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसे सर्वत्र प्राप्त होता है। bhagwan shri krishna ji ke mantra in hindi

२२ अक्षर श्री कृष्ण मंत्र : 22 akshar shri krishna mantra in hindi :

“ऐं क्लीं कृष्णाय ह्रीं गोविंदाय श्रीं गोपीजनवल्लभाय स्वाहा ह्‌सों”

इस २२ अक्षरों वाले श्रीकृष्ण मंत्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसे वागीशत्व की प्राप्ति होती है। shri krishna ke mantra in hindi

23 अक्षर श्री कृष्ण मंत्र : 23 akshar shri krishna mantra in hindi :

“ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीकृष्णाय गोविंदाय गोपीजन वल्लभाय श्रीं श्रीं श्री”

इस २३ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मंत्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसकी समस्त बाधाएं स्वतः समाप्त हो जाती हैं। bhagwan shri krishna ji ke mantra in hindi

अट्ठाईस अक्षर श्री कृष्ण मंत्र : 28 akshar shri krishna mantra in hindi :

“ॐ नमो भगवते नन्दपुत्राय आनन्दवपुषे गोपीजनवल्लभाय स्वाहा”

इस २८ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसको समस्त अभिष्ट वस्तुएं प्राप्त होती हैं ।

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500

उन्तीस अक्षरों श्री कृष्ण मंत्र : 29 akshar shri krishna mantra in hindi :

“लीलादंड गोपीजनसंसक्तदोर्दण्ड बालरूप मेघश्याम भगवन विष्णो स्वाहा”

इस २९ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक एक लक्ष्य (१०००००) जप एवं घृत, शर्करा व मधु में तिल व अक्षत मिश्रित कर होम करते हैं, उन्हें स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। shri krishna ke mantra in hindi

बत्तीस अक्षरों श्री कृष्ण मंत्र : 32 akshar shri krishna mantra in hindi :

“गोविन्दाय गोपीजनवल्लभाय स्वाहा ।

नन्दपुत्राय श्यामलांगाय बालवपुषे कृष्णाय ॥”

इस ३२ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक एक लक्ष्य (१०००००) जाप करता है तथा पायस, दुग्ध व शर्करा से निर्मित खीर द्वारा दशांश हवन करता है, उसकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। shri krishna ke mantra in hindi

तैंतीस अक्षरी श्री कृष्ण मंत्र : 33 akshar shri krishna mantra in hindi :

“ॐ कृष्ण कृष्ण महाकृष्ण सर्वज्ञ त्वं प्रसीद मे ।

रमारमण विद्येश विद्यामाशु प्रयच्छ मे ॥”

इस ३३ अक्षरों वाले श्री कृष्ण मन्त्र का, जो भी साधक जाप करता है, उसे समस्त प्रकार की विद्याएं निःसंदेह प्राप्त होती हैं । lord krishna mantra in hindi

विपत्ति नाश श्री कृष्ण मंत्र : vipatti nash shri krishna mantra in hindi :

“हे कृष्ण द्वारकावासिन् क्वासि यादवनन्दन ।

आपद्भिः परिभूतां मां त्रायस्वाशु जनार्दन ॥१॥”

विधि : इस मन्त्र का न्यूनतम १०८ बार स्वयं जप करें। कुछ दिवस जपने के पश्चात् स्वप्न में आदेश सम्भव है। अनुष्ठान हेतु ५१००० जप व दशांश ५१०० जप अथवा आहुतियां आवश्यक हैं। krishna ji ke mantra in hindi

श्री कृष्ण संकट मुक्ति मंत्र : shri krishna sankat mukti mantra in hindi :

“हा कृष्ण द्वारकावासिन् क्वासि यादवनन्दन ।

आपद्भिः परिभूतां मां त्रायस्वाशु जनार्दन ॥

हा कृष्ण द्वारकावासिन् क्वासि यादवनन्दन ।

कौरवैः परिभूतां मां किं न त्रायसि केशवः ॥२॥”

विधि : उपर्युक्त दोनों मन्त्रों का ३२००० जप करने से, अत्यत दीर्घ संकट नष्ट हो जाते हैं।

श्री कृष्ण कार्य सिद्धि मंत्र : shri krishna karya siddhi mantra in hindi :

“ॐ कार्पण्यदोषोपहतस्वभावः पृच्छामि त्वां धर्मसम्मूढचेताः ।

यच्छ्रेयः स्यान्निश्चितं ब्रूहि तन्मे शिष्यस्तेऽहं शाधि मां त्वां प्रपन्नम् ॥३॥

विधि : प्रतिदिन विधिवत भगवान श्री कृष्ण अथवा भगवान विष्णु जी का पूजन करके, उपर्युक्त मन्त्र का १२ दिनों में २५००० जप करने से, स्वप्न के द्वारा कार्यसिद्धि का ज्ञान होता है। lord krishna mantra in hindi

श्री कृष्ण सर्व अनिष्ट मंत्र : shri krishna sarv anisht mantra in hindi :

“ॐ नमो भगवते तस्मै कृष्णायाकुण्ठमेधसे ।

सर्वव्याधिविनाशाय प्रभो माममृतं कृधि ॥४॥”

विधि : इस मन्त्र का प्रतिदिन प्रातःकाल उठते ही बिना किसी से कुछ बोले, ३ बार जप करने से सर्व अनिष्ट का नाश होता है। इसका अनुष्ठान ५१००० मन्त्र जप तथा ५१०० दशांश हवन से सम्पन्न हो जाता है। krishna ji ke mantra in hindi

श्री कृष्ण संकट मुक्ति मंत्र : shri krishna sankat mukti mantra in hindi :

“ॐ रां श्रीं ऐं नमो भगवते वासुदेवाय ममानिष्टं नाशय नाशय ।

मां सर्वसुखभाजनं सम्पादय सम्पादय हूं हूं श्रीं ऐं फट् स्वाहा ॥५॥

विधि : इस मन्त्र का प्रतिदिन १०८ बार जप करना चाहिये। krishna ji ke mantra in hindi

“कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने ।

प्रणतः क्लेश नाशाय गोविन्दाय नमो नमः ॥६॥

विधि : संकटासन्न द्रोपदी की अवस्था का ध्यान करें तथा ७ बार उक्त मन्त्र का जाप करें अथवा प्रतिदिन १०८ बार जप करना चाहिये।

यदि आप भी अपने जीवन में किसी समस्या से परेशानी में चल रहे हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित ब्राह्मण पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

श्री कृष्ण मनोकामना पूर्ति मंत्र : shri krishna manokamna purti mantra in hindi :

“ॐ ऐं ह्रीं श्रीं नमो भगवते राधाप्रियाय राधा-रमणाय गोपीजनवल्लभाय ममाभीष्टं पूरय पूरय हुं फट् स्वाहा ।”

विधि : इस मन्त्र को कदम्बकाष्ट की छोटी पीठिका (चौकी) पर अष्टगन्ध अथवा कपूर व केशर से, अनार की कलम से लिखकर षोडशोपचार से पूजन करें। प्रतिदिन १८०० से कम जप नहीं होना चाहिये। कुल जप संख्या सवा लक्ष्य (१२५०००) है। तदुपरान्त १२५०० दशांश होम हेतु जप करना चाहिये। lord krishna mantra in hindi

संतान प्राप्ति श्री कृष्ण मंत्र : shri krishna santan prapti mantra in hindi

भगवान श्री कृष्ण से जुड़ा सबसे बड़ा मंत्र बालगोपाल मंत्र माना जाता है। नि:संतान दंपत्तियों के लिए इस मंत्र को बेहद कल्याणकारी माना गया है। बालगोपाल मंत्र निम्न है: ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते देहि मे

<<< पिछला पेज पढ़ें                                                                                अगला पेज पढ़ें >>>

जन्मकुंडली सम्बन्धित, ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या के लिए कॉल करें : 7821878500

किसी भी तरह का यंत्र या रत्न प्राप्ति के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

बिना फोड़ फोड़ के अपने मकान व् व्यापार स्थल का वास्तु कराने के लिए कॉल करें Mobile & Whats app Number : 7821878500


नोट : ज्योतिष सम्बन्धित व् वास्तु सम्बन्धित समस्या से परेशान हो तो ज्योतिष आचार्य पंडित ललित शर्मा पर कॉल करके अपनी समस्या का निवारण कीजिये ! +91- 7821878500 ( Paid Services )

Related Post : 

जन्माष्टमी के उपाय ( Janmashtami Ke Upay ) Janmashtami Ke Din Kare Ye Upay

कृष्ण जन्माष्टमी के उपाय ( Krishna Janmashtami Ke Upay ) Krishna Janmashtami Ke Din Kare Ye Upay

राशि अनुसार कृष्ण जन्माष्टमी के उपाय ( Rashi Anusar Krishna Janmashtami Ke Upay ) Rashi Anusar Kare Krishna Janmashtami Ke Din Ye Upay

श्री कृष्ण जन्माष्टमी की पूजा विधि ( Shri Krishna Janmashtami Ki Puja Vidhi ) Kaise Kare Krishna Janmashtami Ki Puja Vidhi

श्री कृष्ण के मंत्र ( Shri Krishna Ke Mantra ) Lord Krishna Mantra

श्री कृष्ण पूजा मंत्र ( Shri Krishna Puja Mantra ) Lord Krishna Puja Mantra

श्रीकृष्ण के विशेष मंत्र ( Shri Krishna Ke Vishesh Mantra ) Krishna Mantra

10 वर्ष के उपाय के साथ अपनी लाल किताब की जन्मपत्री ( Lal Kitab Horoscope  ) बनवाए केवल 500/- ( Only India Charges  ) में ! Mobile & Whats app Number : 7821878500 

ऑनलाइन पूजा पाठ ( Online Puja Path ) व् वैदिक मंत्र ( Vaidik Mantra ) का जाप कराने के लिए संपर्क करें Mobile & Whats app Number : 7821878500

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *